GupShup Study
 
  
डिप्रेशन के लक्षण, डिप्रेशन से बचाव तथा महत्वपूर्ण तथ्य - Know all about Depression
GupShup Study

डिप्रेशन के लक्षण, डिप्रेशन से बचाव तथा महत्वपूर्ण तथ्य - Know all about Depression

04-Jul-2016 | | Total View : 0 |

जिंदगी में हम सभी कई बार उदास होते है कभी पारिवारिक परेशानियों को लेकर तो कभी अपनी असफलता को लेकर या अन्य किसी वजह से, मगर यही उदासी लम्बे समय तक हो तो ये डिप्रेशन या अवसाद का रूप ले लेती है| डिप्रेशन (अवसाद) का कोई एक कारण नहीं होता। कई बार ये बीमारी पारिवारिक होती है, लेकिन येउन्हें भी होता है, जिनके परिवार में कोई भी डिप्रेशन का शिकार ना हुआ हो।

डिप्रेशन एक तरह की बीमारी है, जिसमें आपका शरीर, मन की दशा और विचार शामिल होते है। ये आपके खाना खाने और नींद लेने के तौर तरीकों पर असर डालता है। यहां तक कि आप अपने बारे में क्या महसूस करते है और दूसरी बातों के बारे में क्या सोचते है, इस पर भी डिप्रेशन असर डालता है।


डिप्रेशन के लक्षण क्या हैं?

हालाँकि हमेशा डिप्रेशन के लक्षण और संकेत समय रूप से सामने आ पाते है ऐसा सोचना सही नहीं होगा क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि इसके कुछ स्पष्ट संकेत नहीं होते यह अल्पकालीन किसी विषय को लेकर हमारी चिंता हो सकती है या फिर दीर्घकालीन हो सकता है इसलिए हमे कुछ सावधानी से अपने व्यवहार में आये बदलावों को notice करना होता है वैसे कुछ सामान्य संकेत होते है जिस से हम अपने अंदर जमा हो रही घुटन को समझ सकते है जैसे की -

  • बहुत सोना या बिल्कुल ना सोना

  • दुनिया से कटाव

  • इन्टरनेट का अधिक इस्तेमाल

  • अत्यधिक संवेदनशील हो जाना

  • लोगो से मिलने में असहज महसूस करना

  • बहुत खाना या बिलकुल ना खाना।

  • खुदकुशी या मृत्यु के ख़्याल आना

  • शराब या ड्रग लेना

  • हमेशा दुखी व खाली महसूस करना।

  • अपनी पसंदीदा चीज़ों में दिलचस्पी खो देना

  • चिड़चिड़ापन महसूस करना

  • बहुत रोना

  • खुद को अपराधी, बेकार और बिना काम का समझना

  • एक चीज़ पर ध्यान लगाने में, या निर्णय लेने में कठिनाई


ऊपर दिए लक्षण अगर दो हफ्ते से ज़्यादा समय तक दिखाई दें, तो किसी प्रोफेशनल की मदद लें। डिप्रेशन कई बीमारियों के कारण भी हो सकता है, जैसे डायबिटीज़ , हृदयरोग, अल्ज़ाइमर, हार्टअटैक, कैंसर और स्ट्रोक। कुछ दवाईयों से डिप्रेशन हो सकता है, यहां तक कि कुछ मानसिक बीमारियां और ड्रग्स लेने की आदत से भी डिप्रेशन हो सकता है। इलाज से आपको डिप्रेशन से निकलने में मदद मिलेगी।


डिप्रेशन से बचने के उपाय – सबसे पहले खुद के साथ समय बिताएं और अच्छे से सोचे ऐसा क्यों हो रहा है और लक्षणों की पहचान करने के बाद तुरंत राहत के लिए सब कुछ भूलकर खुद को नार्मल करने की कोशिश करें | कुछ ऐसा करें जो आपके लिए तनाव कम करने में मदद हो जैसे की लम्बी लम्बी सांसे लेना , हलके फुल्के वो व्यायाम जो आपके शरीर को relax वाली मुद्रा में लेकर आते है | योग मालिश गर्म या गुगुने पानी से स्नान जो आपकी थकान को भी दूर करने में हेल्प करता है | अपने शौक को समय दें और सोचे क्या करने पर आपको मज़ा आता है और साथ ही एक फिलोस्पी अपने mind में सेट करे कि जो चीज़े आप बदल नहीं सकते है उनके लिए परेशान होना कितना मायने रखता है अगर नहीं तो क्यों न उस बारे में सोचा ही नहीं जाये तो कितना बेहतर हो मौसम | multitasker न बने और एक समय में एक ही काम तन्मयता से करें | कुछ लोगों में इलाज का असर होता है लेकिन कुछ लोगों को सलाह मश्विरे से मदद मिलती है। कुछ लोगों को दवा और सलाह मश्विरे के मेल जोल से फायदा पहुंचता है। अगर आपको सलाह मश्विरे और दवाई, दोनों से ही फायदा ना पहुंचे, तो तब तक कोशिश करते रहें, जब तक कि डिप्रेशन से निकलने का सही रास्ता ना मिल जाए।  ज़्यादांतर लोग कुछ हफ्तों में ठीक महसूस करने लगते है।

 

डिप्रेशन से जुड़े कुछ तथ्य - Facts about depression.

1. अकेले अमेरिका में ही 200 लाख से ज्यादा लोग depression के शिकार है|
2. Depression किसी भी आयु के, किसी भी लिंग के या किसी भी जगह रहने वाले लोगो को कभी भी हो सकता है| कई बार तो बिना किसी कारण के वावजूद भी depression हो जाता है|
3. 6% से भी ज्यादा बच्चे depression से जूझ रहे है जिसमे से अधिकांश तो पढाई को लेकर या परीक्षा में बहुत अच्छे नंबर लाने की होड की वजह को लेकर डेप्रेस्स होते है|
4. Depression होने की औसतन आयु 24 से 35 वर्ष है| इस उम्र में इसके chances बढ़ जाते है|
5. हाल के सर्वे में ये पाया गया है की 80% लोग जो depression के शिकार है वो इसका इलाज नहीं करा रहे है| कुछ को तो इसके बारे में पता ही नहीं है और कुछ जान बूझ कर भी इलाज नहीं कराते|
6. मर्दो के मुकाबले औरतो को depression होने की सम्भावना दोगुनी होती है|
7. depression से पीड़ित लोगो में हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ जाता है|
8. विश्व स्वस्थ संगठन का कहना है 2030 तक आते आते depression मनुष्य की असमर्थ्यता का दूसरा सबसे बड़ा कारण होगी|
9. कुल depression से पीड़ित लोगो में से 15% से ज्यादा लोग आत्म हत्या कर लेते है|
10. अब्राहम लिंकन की प्रेमिका की मृत्यु के बाद अब्राहम लिंकन depression में आ गए थे उसके बाद उनकी पूरी जिंदगी depression में बीती थी|
11. depression से ग्रस्त व्यक्ति लोगो से मिलने जुलने और बात करने से कतराते है|
12. सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर (SAD) एक तरह का depression है जो मौसम में परिवर्तन से आता है|
13. अगर किसी को depression होता है फिर ठीक होने के बाद फिर से 5 साल के अंदर होने की सम्भावना 50% और बढ़ जाती है|
14. Depressed औरतो में osteoporosis विकसित होने का खतरा बढ़ जाते है|
15. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हेल्थ (NIH) की माने तो 6% Depressed बच्चों में 4.9 % major depression के शिकार है|
16. Depressed व्यक्ति अपने आप को जलाने और हाथ काटने जैसे तरीके इस्तेमाल करके अपने आप को चोट पहुंचाने का प्रयास करते है|
17. depression पहले के समय में इतना नहीं था मगर आज की आधुनिक जीवनशैली के कारण ये बढ़ता जा रहा है|

 

आपको ये पोस्ट कैसी लगी इस बारे में अपने विचार हमे कमेन्ट के माध्यम से जरुर दें

Share With Friends :  

No any Comment yet!